Type Here to Get Search Results !

राजस्थान के दिग्गज नेता जसवंत सिंह के बारे में जानिये रोचक बातें

0

 

जसोल जन्मयो जसवंत, दिल्ली पाड़ी धाक।
मालाणी थारी किस्मत रूठी,रतन रयो नी आज।।

वर्ष 2014 में कद्दावर भाजपा नेता जसवंतसिंह जी ने अपना अंतिम लोकसभा चुनाव नामांकन भरा था ….
बाड़मेर जैसलमेर संयुक्त लोकसभा सीट से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में ….
इस नामांकन फार्म में जसवंतसिंह जी ने अपनी सम्पति में 3 अरबी घोड़े …. 13 बंदूक …. 51 गायें एवं 7 करोड़ की चल अचल पैतृक तथा स्वयं द्वारा अर्जित सम्पति दिखाई थी ….

2 अरबी घोड़े जसवंतसिंह जी को सऊदी के युवराज से गिफ्ट में मिले थे ….

जोधपुर में जसवंतसिंह जी के फॉर्म-हाउस में देशी नस्ल की गायों एवं देशी नस्ल के सांडों का संवर्द्धन एवं संरक्षण किया जाता है ….
जसवंतसिंह जी का जन्म राजस्थान के पाक सीमावर्ती बाड़मेर जिले के जसोल कस्बे में हुआ था …. यह राजस्थान का मारवाड़ अंचल है एवं इस क्षेत्र को मारवाड़ अंचल का मालाणी क्षेत्र कहा जाता है ….

 

जसोल कस्बा मां भटियाणी के मंदिर एवं समाधिस्थल के कारण विश्वविख्यात है ….
जसवंतसिंह जी का जन्म एक सम्पन्न परिवार में हुआ था …. आपने अजमेर के मेयो कॉलेज एवं राष्ट्रीय रक्षा अकादमी खड़कवासला से शिक्षा ग्रहण की थी ….

आप 1960 के दशक में भारतीय सेना के बड़े अधिकारी रहे हैं ….
आप मारवाड़ (जोधपुर) के वर्तमान महाराजा साहेब श्री गजसिंह जी राठौड़ के अत्यंत करीबी माने जाते हैं ….
1960 के दशक में ग्वालियर में आयोजित सेना की एक पार्टी में जसवंतसिंह जी की मुलाकत अटल जी से हुई थी …. उस पार्टी में दोनों के बीच काफी बातचीत हुई थी ….

ग्वालियर की पार्टी में हुई जसवंत अटल की यह मुलाकात बहुत जल्द प्रगाढ़ दोस्ती में बदल गयी ….
आप भाजपा के संस्थापक सदस्यों में से एक रहे हैं ….

अटल अक्सर कहा करते थे प्रमोद (महाजन) मेरा लक्ष्मण है तो जसवंत मेरा हनुमान है ….
पोकरण परमाणु परीक्षण के बाद भारत पर लगे आर्थिक प्रतिबंधों को अमेरिका जा के हटवाना हो या रूठी जयललिता को मनाना हो आप सदैव अटल सरकार के संकटमोचन रहे ….

आप अटल सरकार में 2 वार देश के वित्त एवं 1 वार विदेशमंत्री रहे ….
आपको वर्ष 2001 में सर्वश्रेष्ठ सांसद का सम्मान मिला ….
आपके द्वारा लिखित पुस्तक जिन्ना-इंडिया, पार्टीशन, इंडिपेंडेंट में नेहरू गांधी की आलोचना एवं जिन्ना की प्रशंसा के कारण आपको भाजपा से निलंबित किया गया था किन्तु पुनः पार्टी में ले लिया गया था ….

2014 के लोकसभा चुनावों में पार्टी ने आपको टिकिट नहीं दी तो आपने अपने लोकसभा क्षेत्र बाड़मेर-जैसलमेर से निर्दलीय ताल ठोक के लाखों वोट अर्जित किये थे और नंबर 2 पर रहे थे ….
आज प्रातः आपने आर्मी हॉस्पिटल दिल्ली में अंतिम सांस ली एवं सदा के लिए आप गोलोकवासी हो गए ….
रेतीले धोरों की भूमि मरुभूमि मारवाड़ मालाणी राजस्थान एवं देश का नाम अंतर्राष्ट्रीय पटल पर रोशन करने वाले कर्नल जसवंतसिंह जी जसोल को श्रद्धापूर्ण विनम्र श्रद्धांजलि ….

मां भवानी पुण्यात्मा को अपने श्री-चरणों में स्थान प्रदत्त करे ….
प्रभु श्रीराम शौक संतप्त परिवार को सम्बल प्रदान करे ….

पहले अटल और आज अटल युग का एक स्तम्भ अटल का हनुमान सदैव के लिए नश्वर संसार से विदा हो गया ….
धुर राजनीतिक विरोधी वसुंधरा जी भी जिनके देहांत पर श्रद्धांजलि अर्पित करने आये मारवाड़ के वो जसवंत आज शून्य में सम्माहित हो गये हैं ….
ॐ शांति शांति शांति!! ….

Post a Comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad